Spam Meaning In Hindi – स्पैम का मतलब क्या हैं और स्पैम के कितने प्रकार हैं

क्या आप Spam Meaning In Hindi में समझना चाहते हैं, तो आप बिल्कुल सही जगह आये हैं. क्योंकि आज मैं आपको हिंदी में स्पैम का मतलब (अर्थ) बताने वाला हूँ, जिसे पढ़ने के बाद Spam Meaning से सम्बंधित सभी जानकारी आपको मिल जायेगा और आप स्पैम से बच सकेंगे.

पहले इंटरनेट का इस्तेमाल बहोत कम होता था और इंटरनेट हर कोई use भी नही करता था, जिसके चलते इंटरनेट पर स्पैम होने का नामो निसान नही था. वही आज की समय की बात करे तो, इज्यादा से ज्यादा यूज़र्स इंटरनेट चला रहे हैं और दिन प्रतिदिन यूज़र्स बढ़ रहे हैं.

ऐसे में जो स्पैममर्स होते हैं, वो आपका लाभ उठाना चाहते हैं. लोगो ने इंटरनेट चलाना तो सिख लिया हैं, लेकिन इंटरनेट को लेकर सीरियस नही रहते हैं. इसी का फायदा उठाकर स्पैममर्स आपको बे वजह परेशान करना शुरू कर देते हैं. इंटरनेट चलाने के साथ – साथ आपको जागरूक होना भी जरूरी हैं.

आजकल इंटरनेट पर काफी स्पैम हो रहे हैं. इससे बचने के लिए आपको हमेशा रेडी करना चाहिए, क्योंकि आज के समय में इंटरनेट पर बहोत तेज़ी से ग्रो होने के कारण स्पैम बढ़ चुके हैं. अगर अपने आप को स्पैम होने से बचना चाहते हैं, तो आपको इस पोस्ट को अंत पढ़ना होगा. तो आईये जानते हैं स्पैम का मतलब क्या हैं.

Spam Meaning In Hindi

स्पैम का मीनिंग किसी को बार – बार मैसेज या कॉल करना, वो स्पैम कहलाता हैं. अगर आप किसी व्यक्ति को हद से ज्यादा मैसेज या कॉल करते हैं, तो उसे स्पैम कहते हैं. इसे सिंपल भाषा में समझे तो, डिजिटली किसी को फालतू में परेशान करना, वो स्पैम होता हैं. ये स्पैम अगल – अगल तरह के होते हैं.

इंटरनेट पर अगर आप हद से ज्यादा से कुछ करते हैं, तो स्पैम केटेगरी में आता हैं. जैसे :- फेसबुक में एक रूल हैं, अगर आप फेसबुक पर 1 दिन में 6 से 7 url शेयर करते हैं, तो उसे फेसबुक स्पैम समझता हैं और फेसबुक url को ब्लॉक कर देता हैं.

फिर आप दुबारा url को शेयर नही कर पाते हैं. अगर आप किसी भी प्लेटफार्म पर टर्म्स & कंडीशन्स के हिसाब से रूल को फॉलो करते हैं, तो वो ठीक हैं, लेकिन आप रूल को तोड़कर अनलिमिटेड टाइम्स इस्तेमाल करते हैं, वो स्पैम होता हैं.

ये स्पैम ज्यादातर यूज़र्स करते हैं, लेकिन इससे कोई ज्यादा फर्क नही पड़ता हैं. वही जो स्पैममर्स होते हैं, वो आपके साथ स्पैम करने करने के लिए अगल – अगल तरीको का इस्तेमाल करते हैं और ये स्पैम आपके लिए काफी नुकसानदायक साबित हो सकता हैं.

फेसबुक स्पैम का मतलब क्या हैं

फेसबुक स्पैम का मतलब किसी प्रोडक्ट का लिंक, फेसबुक पेज लिंक, पोस्ट लिंक और etc को हद से ज्यादा फेसबुक पर शेयर करने से स्पैम होता हैं. आपने अक्सर देखा होगा यूजर अपने पेज का फॉलोवर्स बढ़ाने के लिए अगल – अगल ग्रुप में लिंक शेयर करते हैं, इसी के चलते ये स्पैम माना जाता हैं.

इसके अलावा यूजर अपने affiliate लिंक को भी फेसबुक का रूल तोड़कर काफी मात्रा में लिंक को शेयर करते हैं. जब फेसबुक पर कोई यूजर काफी मात्रा में लिंक को शेयर करता हैं, वो तो स्पैम होता हैं और फेसबुक लिंक को ब्लॉक भी कर देता हैं. इसीलिए आप फेसबुक या अन्य प्लेटफार्म पर लिमिट में लिंक शेयर करे.

यूट्यूब स्पैम का मतलब क्या हैं

यूट्यूब पर spam का मतलब, sub4sub, मेरे चैनल को सब्सक्राइब करदो, प्लीज विजिट my चैनल, मेरे चैनल का प्रमोशन करदो, किसी वीडियो में जाकर बेमतलब कमेंट करना, मेरे चैनल को चेक करलो. ये जब spam होता हैं.

अगर आप एक यूट्यूबर हैं और आपके पास इस तरह के कमेंट आते हैं, तो ये सब spam होता हैं. इससे आपके चैनल को टर्मिनेट भी किया जा सकता हैं, क्योंकि यूट्यूब इसे स्पैमिंग violation में डाल देता हैं.

इसके अलावा अगर आप किसी वीडियो के थंबनेल में किसी सेलिब्रिटी का फ़ोटो लगाकर वीडियो पब्लिश करते हैं और वीडियो में ऐसा कोई सेलिब्रिटी नही हैं, तो यूट्यूब इसे स्पैम समझता हैं. आपने केवल दिखावे के लिए वीडियो के थंबनेल में सेलेब्रेटी का फ़ोटो इस्तेमाल किया हैं, वो स्पैम होता हैं और इसके लिए यूट्यूब आपको कॉपीराइट स्ट्राइक भी दे सकता हैं. 

यदि आप यूट्यूब पर लाइव स्ट्रीम करते हैं और आप लाइव स्ट्रीम में किसी दूसरे प्लेटफार्म पर यूज़र्स को विजिट करने के लिए कहते हैं, तो ये भी एक spam हैं. ये यूट्यूब के violation के खिलाफ हैं. आप लाइव स्ट्रीम में यूज़र्स को किसी अन्य प्लेफॉर्म विजिट करने या रेफेर के लिए नही कह सकते हैं.

यूट्यूब इसे spam समझकर आपके वीडियो को डिलीट भी कर सकता हैं. इसके साथ लाइव स्ट्रीम के दौरान यूज़र्स कमेंट में एक जैसा कमेंट बार – बार करता हैं, वो भी एक स्पैम हैं. यूट्यूब एक जैसे comment को डिलीट कर देता हैं.

Youtube Spamming से कैसे बचे

  1. यदि आप यूट्यूब स्पैमिंग से बचना चाहते हैं, तो उसके लिए आप अपना यूट्यूब ओपन करले.
  2. फिर community पर क्लिक करदे.
  3. फिर likly spam पर क्लिक करे.
  4. फिर community setting पर क्लिक करे.
  5. यहाँ आपको दो ऑप्शन मिलेंगे hidden users और blocked words.
  6. हिडन यूज़र्स ऑप्शन से अगर कोई यूजर गलत कमेंट करता हैं, तो आप उसे हाईड कर सकते हैं.
  7. ब्लॉक्ड वर्ड्स ऑप्शन से आप ऐसे वर्ड्स को ब्लॉक करे, जो गलत कमेंट होते हैं, जैसे sub4sub please promote my channel, please check my channel, worng words.

यदि आप अपने चैनल पर ऐसे करते हैं, तो आपका चैनल हमेशा सेफ रहेगा. अब आगे से जो भी ऐसा कमेंट करेगा, वो ऑटोमैटिक कमेंट हाईड या डिलीट हो जायेगा. इसके अलावा आपको उन वर्ड्स को ब्लॉक करना हैं, जो आपको लगता हैं, ये वर्ड सही नही हैं.

WhatsApp स्पैम का मतलब क्या हैं

फेसबुक की तरह इसमें भी किसी एफिलिएट लिंक को प्रमोशन के लिए शेयर करते हैं. हालांकि आप 10 मेंबर्स से ज्यादा को लिंक फॉरवर्ड नही कर सकते हैं, लेकिन यूज़र्स अपने फायदे के लिए स्पैम करना शुरू कर देते हैं.

स्पैम फैलाने के लिए अगल – अगल लिंक का इस्तेमाल करते हैं. जैसे रेफेर लिंक, affiliate link, प्रोडक्ट लिंक, और प्रमोशन लिंक. यदि आप लिंक को व्हाट्सऐप्प में बार – बार शेयर करते हैं, तो वो स्पैमिंग होता हैं.

Spam Call Meaning In Hindi

ये स्पैम यूज़र्स के द्वरा नही बल्कि scammers के द्वरा होता हैं. इसमें किसी प्रोडक्ट के बहाने आपके पास कॉल करते हैं. ये नंबर इतने ज्यादा सिमिलर होते हैं, जैसे लगता हैं, ये कोई बैंक या कंपनी का नंबर हैं. ऐसे में यूजर को लगता हैं, किसी व्यक्ति का कॉल आ रहा हैं और call रिसीव कर लेते हैं.

फिर आपको कॉल पर बोला जाता हैं, नमस्कार मेरा नाम abc हैं. मैं इस कंपनी से बोल रहा हूँ और आपके नाम से लॉटरी लगा हैं. आपको लगता हैं, सच में यह मेरे लिए हैं और आप अपना डिटेल्स उनको प्रदान कर देते हैं.

फिर उसके बाद आपके पास भारी मात्रा में कॉल्स पर कॉल्स आना शुरू हो जाता हैं. स्पैम कॉल्स में आपको पर्सनल loan, सिम पोर्ट, प्रोडक्ट, लॉटरी और भी अन्य लालच के लिए फ़ोन कॉल किये जाते हैं, वो सभी spam calls होते हैं.

स्पैम कॉल से कैसे बचे

स्पैम कॉल से कैसे बचे

STEP 1. ट्रूकॉलर ऐप्प का इस्तेमाल करे. इसमें एक फीचर हैं, स्पैम का. इस फीचर में सभी वो नंबर्स और मैसेज आते जाते हैं, जो स्पैम कॉल्स होते हैं. इसके अलावा truecaller app में एक स्पैम इंडिकेटर का फीचर हैं, जो आपको बतायेगा इस नंबर का कितना स्पैम परसेंट हैं. जिसका ज्यादा परसेंट होगा, उसका उतना अधिक चांस हैं, उस नंबर का स्पैम कॉल होना.

STEP 2. यदि कोई आपके पास एक ही नंबर से बार – बार कॉल कर रहा हैं, तो उसे ब्लॉक करदे. ब्लॉक करने के लिए आप प्ले स्टोर से किसी दूसरे ऐप्प का भी use कर सकते हैं.

STEP 3. स्वयं पहचान करे. जभी कोई नंबर से कॉल आये तो उसे चेक करे, ये स्पैम कॉल हैं या नही. जो भी स्पैम कॉल होते हैं, वो सारे थोड़े अगल टाइप के नंबर होते हैं. जैसे :- +1400360270, +911400360270. कुछ तो ऐसे नंबर से कॉल आते हैं, जिसे देखने के बाद ये लगता हैं, ये किसी दूसरे देश का नंबर हैं. अगर आपके पास कुछ इसी तरह से number से call आये तो उस number को रिसीव नही करे या उसे ब्लॉक करदे.

STEP 4. DND का इस्तेमाल करे. अगर आप DND (Do Not Disturb) को एक्टिवेट कर देते हैं, तो स्पैम कॉल आने का चांस कम हो जायेगा. इस सर्विस को एक्टिवेट करने के लिए आप अपने मोबाइल सेटिंग और customer care के माध्यम से कर सकते हैं.

STEP 5. आये दिन टेलीकॉम ऑपरेटर ऑफर्स के लिए यूजर को कॉल करते हैं, ऐसे में आप इसे बंद करना चाहते हैं, तो उसके लिए आप कस्टमर केअर को कॉल करे. क्योंकि 1 दिन में टेलीकॉम ऑपरेटर की तरफ से काफी कॉल्स आते हैं, जिसके कारण ये स्पैम कॉल हो जाता हैं. इसीलिए आप कस्टमर को कॉल करके कहे, किसी भी प्रकार का ऑफर्स से सम्बंधित कॉल या मैसेज नही करे. कस्टमर केअर तुरंत आपके लिए नंबर के लिए इस सर्विस को बंद कर देंगे और आप स्पैम कॉल से बच जाएंगे.

2018 के हिसाब से स्पैम कॉल के मामले में इंडिया दूसरे पोजीशन पर हैं. वही ब्राज़ील 1st स्थान पर हैं. यह रिपोर्ट ट्रूकॉलर ने दिया था और बताया था. ज्यादातर कॉल telecom operators के द्वरा होता हैं.

टेलीकॉम ऑपरेटर ऑफर् और बैलेंस रिमाइंडर के लिए कॉल करते हैं. आपको  बार – बार कॉल करके बताया हैं, ऑफर्स के बारे में, आपका रिचार्ज खत्म वाला हैं, तुरंत रिचार्ज करे. कुछ तरह के कॉल्स आते हैं. इसलिए आप तुरंत इस सर्विस को क्लोज करदे.

Spam Mail मतलब क्या हैं

स्पैम मेल का मतलब, जो बिना किसी के परमिशन भारी मात्रा में ऐड से भरे मेल आता हैं, वो स्पैम मेल होता हैं. दरअसल इसे इसलिए भेजा जाता हैं, क्योंकि इससे स्पैममर्स को फायदा होता हैं.

स्पैममर्स अपने किसी प्रोडक्ट का एफिलिएट लिंक को आप तक भेजते हैं और यदि में से कुछ परसेंट यूज़र्स ही लिंक से प्रोडक्ट खरीद लेते हैं, तो इससे spammers काफी फायदा होता हैं. कुछ spammers इसे पैसे कमाने का जरिया बना लेते हैं. 2008 के अध्ययन से पता चला था, डैली कम से कम 1 बिलियन स्पैम मेल भेजा जाता हैं.

स्पैम मेल से कैसे बचे

स्पैम मेल से कैसे बचे

स्पैम मेल से बचने के लिए कभी भी स्पैम ऑप्शन मेल को ओपन नही करे, क्योंकि जो स्पैम मेल होते हैंज़ वो सभी स्पैम ऑप्शन में होते हैं. यह ऑप्शन आपको जीमेल ऐप्प में मिलेगा.

जीमेल ऐप्प ऑटोमैटिक ही मेल को पहचान लेता हैं और उसे स्पैम में डाल देता हैं. जो रियल मेल होगा, वप प्राइमरी सेक्शन में दिखाई देगा. इसके अलावा आप कही भी अपने ईमेल एड्रेस को नही डाले.

स्पैम ईमेल का पहचान क्या हैं

  1. जो रियल मेल होते हैं, वो एक प्रोफेशनल बिज़नेस ईमेल एड्रेस होता हैं. जैसे :- [email protected] कंपनी का नाम.
  2. स्पैममर्स हमेशा कंपनी के नाम से मेल करते हैं, लेकिन इसमें कंपनी का नाम का स्पेलिंग गलत होता हैं.
  3. ज्यादातर मेल product और advertisement से related होते हैं.
  4. जब भी लिंक पर क्लिक करके साइट को ओपन करे, तो उसका url जरूर चेक करले. जो ऑफिशल साइट होगा, उसके url से अगल url होता हैं, क्योंकि ऑफिसियल साइट का लिंक कॉपी नही किया जा सकता हैं.
  5. मेल को पढ़ने से पहले हमेशा ईमेल एड्रेस को चेक करे और देखे, वो एक प्रोफेशनल ईमेल एड्रेस हैं या नही.

Spam से कैसे बचे

यदि आप स्पैम से बचना चाहते हैं, तो आप निम्न तरीको को फॉलो करना होगा. जैसे :-

  • आप अपना ईमेल id इधर – उधर नही डाले.
  • सभी जगह अपना मोबाइल नंबर वेरीफाई नही करे.
  • अपने कस्टमर केअर को कॉल करके सिम से related ऑफर्स के लिए सर्विस को बंद करदे.
  • स्पैम option को कभी नही खोले और स्पैम मेल को डिलीट करते रहे.
  • सभी साइट के सब्सक्रिप्शन बॉक्स में ईमेल id डालकर सब्सक्राइब नही करे. केवल आप उन्ही को सब्सक्राइब करे, जो आपको पसंद हैं.
  • जिस साइट को ओपन करे, उस साइट का http और https को चेक करले.
  • Official site का ईमेल हमेशा business email id होता हैं.
  • साइट पर शॉपिंग करने से पहले उसके लिंक को चेक जरूर करे.
  • इसके अलावा आप किसी भी प्लेटफॉर्म का यूज़ कर रहे हैं, तो उसमें स्पैम नही करे और rule को follow करे.

स्पैम के प्रकार (Types Of Spam In Hindi)

स्पैम का प्रकार अगल जगह पर अगल हो सकते हैं, क्योंकि इंटरनेट पर एक platform नही बल्कि अनेक platform मौजूद हैं. जिनमें अगल – अगल प्रकार के स्पैम होते हैं.

जैसे :- फेसबुक पर आप अधिक लिंक शेयर नही कर सकते हैं, यूट्यूब live stream के कमेंट में स्पैम नही फैला सकते हैं, ईमेल का स्पैम फोल्डर, सिम प्रोवाइडर के द्वरा कॉल करना, अगल – अगल जगह अपना नंबर देना. ये सब एक स्पैम के प्रकार होते हैं.

लोग स्पैम फैलाने के लिए सभी प्लेटफार्म का इस्तेमाल करते हैं. लोग अधिकतर जगह स्पैम करते हैं. चाहे वो, फेसबुक, इंस्टाग्राम, व्हाट्सऐप्प, ईमेल, मैसेज, कॉल, यूट्यूब या कमेंट हो.

इन सभी जगह स्पैम किया जाता हैं. स्पैम वो होता हैं, जो एक चीज़ को बिना किसी परमिशन के 2/3 बार से ज्यादा किया जाता हैं और प्रकार वो होता हैं, जो जिस प्लेफॉर्म के माध्यम से स्पैम करते हैं.

Conclusion

मुझे उम्मीद हैं Spam Meaning In Hindi आर्टिकल को पढ़ने के बाद आपका इससे रिलेटेड प्रॉपर जानकारी मिल गया होगा. इस आर्टिकल में आपको स्पैम का मतलब के बारे में बताया हैं और आपको इससे कैसे बचना हैं, ये सभी जानकारी दी गई हैं, ताकि फ्यूचर में आप स्पैम से बच सके. इसके अलावा आप भी कही स्पैम ना फैलाये.

इससे दूसरे लोगो को प्रॉब्लम हो सकता हैं और स्पैम करने से यूजर काफी परेशान हो जाते हैं. जिनको स्पैम मीनिंग के बारे में नही पता हैं, तो आप उन लोगो के साथ इस आर्टिकल को share जरूर करे, ताकि वो स्पैममर्स से बच सके. इसके अलावा आपका कोई Spam Meaning In Hindi से सम्बंधित सवाल हैं, तो आप नीचे पूछ सकते हैं. मैं उसका जवाब जरूर दूंगा.

Leave a Comment